60 हिंदुओं को एकसाथ मुसलमान बनाने की एक घटना का वीडियो सामने आया है जो जबरदस्त रूप से वायरल हो रहा है। यह वीडियो पाकिस्तान का है जहां हिंदुओं की हालत बद से बदतर है। यहां 60 हिंदुओं के धर्मांतरण का वीडियो फेसबुक पर शेयर किया जा रहा है। वीडियो में एक मौलवी हिंदुओं को कलमा पढ़वा रहा है। हैरानी की बात यह है कि धर्मांतरण के इस सनसनीखेज मामले के पीछे जिन मौलवियों का हाथ है वे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी माने जाते हैं।

खबरों के मुताबिक, यह मामला सिंध प्रांत के मतली इलाके का है, जहां म्यूनिसिपल चेयरपर्सन के सामने हिंदुओं को जबरन कलमा पढ़वाया गया है। बता दें कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं की आबादी बमुश्किल 40 से 45 लाख के आसपास है जो कि इसकी कुल जनसंख्या का महज 2 फीसदी है। अधिकांश हिंदू पाकिस्तान के सिंध प्रांत में ही रहते हैं।

इस धर्म परिवर्तन के पीछे सिंध प्रांत के मौलवी मियां मिट्ठू और म्यूनिसिपल चेयरपर्सन अब्दुल राउफ निजामनी का हाथ बताया जा रहा है। मियां मिट्ठू को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का करीबी माना जाता है।

फेसबुक पर खुदको मतली का म्यूनिसिपल चेयरपर्सन बताने वाले अब्दुल राउफ निजामानी ने इस पूरी प्रक्रिया के कुछ वीडियो भी साझा किए हैं। इन वीडियो के साथ निजामानी ने लिखा है, 'अलहमदुलिल्लाह, आज मेरी निगरानी में 60 लोग मुसलमान हुए हैं। इनके लिए दुआ करें।'

बता दें कि मियां मिट्ठू पाकिस्तान में गरीब हिंदू लड़कियों की किडनैपिंग और जबरन धर्म परिवर्तन के कई मामलों में कुख्यात माना जाता है। मियां मिट्ठू एक वक्त में पाकिस्तान का सांसद भी रह चुका है।

पाकिस्तान में धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए कोई मजबूत कानून नहीं है। सामाजिक संस्था मूवमेंट फॉर सॉलिडेरटी एंड पीस के मुताबिक सालभर में लगभग 1000 गैर-मुस्लिम युवतियों का जबरिया धर्म परिवर्तन हो रहा है। बीते महीने ही यह खबर आई थी कि एक 13 साल की लड़की को जबरन इस्लाम कबूल करवाया गया था।