बिहार के बिहटा (पटना) स्थित राष्ट्रीय आपदा मोचन (NDRF ) बल की 9 वीं बटालियन की छह टीमें चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ (cyclone Gulaab) से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए पश्चिम बंगाल (west bangal) रवाना हुई हैं। एनडीआरएफ 9 वीं बटालियन के कमान्डेंट विजय सिन्हा ने गुरुवार को बताया कि पश्चिम बंगाल में ‘गुलाब’ चक्रवात के कारण हुई भारी बारिश से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए 6 टीमें पश्चिम बंगाल राज्य के वर्धमान जिला के लिए रवाना हुई।

उन्होंने कहा कि इसमें 2 टीम आरआरसी रांची से 1 टीम देवघर से तथा 3 टीम पटना से राहत एवं बचाव कार्य के लिए रवाना हुई। सभी 6 टीमें अत्याधुनिक आपदा प्रबंधन तथा संचार उपकरणों से लैस है। कमान्डेंट सिन्हा ने बताया कि एनडीआरएफ बल मुख्यालय, नई दिल्ली के आदेशानुसार पश्चिम बंगाल राज्य में चक्रवात ‘गुलाब’ से कुशलतापूर्वक निपटने तथा वहां लोगों के बीच राहत एवं बचाव कार्य के लिए रवाना टीमों में कुल 140 बचावकर्मी शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि टीमें पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले के आसनसोल के लिए रवाना हुई है और किसी भी परस्थिति में हर चुनौती का सामना करने को तैयार है तथा आपदा के इस घड़ी में स्थानीय लोगों को हर सम्भव मदद करेंगे। उन्होंने बताया कि चक्रवाती तूफान ’गुलाब’ को लेकर पहले से ही पश्चिम बंगाल, आंध्रप्रदेश, ओडिशा में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया था। इसका सबसे ज्यादा असर अभी पश्चिम बंगाल में दिख रहा है जहां पिछले 2-3 दिनों से भारी बारिश हो रही है। जिससे बाढ़ का खतरा बना हुआ है।