पिछले एक साल के दौरान मिजोरम में नशीले पदार्थों के सेवन से 54 लोगों की मौत हुई है। राज्य में विभिन्न प्रकार के नशीले पदार्थों के सेवन से हुई मौतें चौकाने वाली हैं। 2018 की तुलना में 2019 राज्य में नशीले पदार्थों के सेवन से मरने वाले लोगों और इनके अवैध कारोबार में शामिल होने वाले लोगों की गिरफ्तारी के आंकड़ों में 5 फीसदी की बढ़ोतरी हुयी हैं। 

मिजोरम सरकार का आबकारी और नशाखोरी विभाग ने राज्य में नशीले पदार्थों के सेवन से 2019 के दौरान हुई मौतों के आकड़ें सार्वजनिक किए हैं। नशीले पदार्थों में हेरोइन के नशे से 27 लोगों की जानें गईं। बाकी 27 मौतें अन्य नशीले पदार्थों के गलत इस्तेमाल से हुई हैं। कुल मौतों में से 50 फीसदी मौतें हेरोइन के नशे से हुई हैं। 2019 में राज्य का आबकारी और व्यसन निषेध विभाग ने कुल 12.5 किलो हेरोइन जब्त की थी। इसी साल में 3,254 लोगों को नशीले पदार्थों के प्रतिबंधित व्यापार, भंडारण और आपूर्ति करने के मामलों में गिरफ्तार किये गये, जिनमें 35 विदेशी नागरिक भी हैं।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360