जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर और सोपोर से प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े पांच आतंकवादियों को पुलिस और अन्य सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार किया। पुलिस ने यह जानकारी दी। श्रीनगर में जिले में आतंकवादियों की आवाजाही के संबंध में विशिष्ट इनपुट के आधार पर, श्रीनगर पुलिस ने विभिन्न स्थानों पर विशेष चौकियां स्थापित कीं।

ये भी पढ़ेंः उदयपुर के हैवान हत्यारों की हो सकती है हत्या, ऐसे NIA ने लिया ऐसा बड़ा फैसला, जानें पूरा मामला


एक ऐसी चौकी सनत नगर चौक-रंगरेथ रोड क्षेत्र पर 50 आरआर पर, एक हाइब्रिड आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया था। उसके पास से आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और एक पिस्तौल सहित गोला-बारूद बरामद किया गया। पुलिस ने बताया कि पूछताछ के दौरान उसके खुलासे पर पंपोर इलाके में आतंकवाद विरोधी अभियान चलाया गया, इस दौरान एक और हाईब्रिड आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया। उसकी तलाशी के दौरान उसके पास से तीन पिस्टल सहित हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया। दोनों की पहचान पंपोर के शार शाली ख्रेव निवासी नवीद शफी वानी और पंपोर के कदलाबल निवासी फैजान राशिद तेली के रूप में हुई है।

ये भी पढ़ेंः खूंखार डकैत ददुआ की मौत का लिया था खौफनाक बदला, UP-STF के 6 जवानों को गोलियों से था भूना, अब मिली ऐसी सजा


पुलिस ने कहा, प्रारंभिक जांच से पता चला है कि गिरफ्तार किया गया युगल आतंकवादियों, हथियारों / विस्फोटक सामग्री के परिवहन और श्रीनगर जिले में प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों को रसद सहायता प्रदान करने में शामिल था। इसके अलावा पुलिस ने कहा कि उनके कब्जे से छह पिस्टल मैगजीन, 11 पिस्टल राउंड, एक ग्रेनेड, 16 जिलेटिन सुपर पावर स्टिक, कोर्टेक्स वायर (लगभग 6 मीटर) और आठ डेटोनेटर बरामद किए गए हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आगे की जांच जारी है।

सोपोर में क्षेत्र में आतंकवादियों की आवाजाही के संबंध में एक विशेष इनपुट पर, सेना के 52फफ और उफढऋ के 177बीएन के साथ पुलिस द्वारा स्थापित एक संयुक्त चेकपोस्ट तक्याबल क्रेंकशिवन में तीन संदिग्ध व्यक्तियों को रोका गया, जिन्होंने मौके से भागने की कोशिश की, लेकिन उन्हें पकड़ लिया गया।तलाशी के दौरान उनके पास से एक एके 47 राइफल, दो पिस्तौल, दो मैगजीन, 10 पिस्टल राउंड और एक हथगोला बरामद किया गया। उनकी पहचान अमरगढ़ निवासी राहिद मुश्ताक गनी और आमिर शफकत मीर और बाग-ए-रहमत, सोपोर निवासी निसार अहमद शेख पुत्र ताहिर निसार शेख के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा, प्रारंभिक जांच से पता चला है कि तीनों प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर के अवगीर्कृत आतंकवादी हैं और इलाके में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए लगातार मौके की तलाश में थे।