महाराष्ट्र में भारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मुंबई में जहां लोग बाढ़ जैसे हालात का सामना कर रहे हैं तो कोरण इलाके में भी लोग बेहाल है। मौसम विभाग ने महाराष्ट्र की राजधानी के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। इस बीच सेंट्रल रेलवे को दर्जनों ट्रेनों को रद्द करना पड़ा है तो कई का रास्ता बदला गया है और 50 से अधिक ट्रेनों का सफर छोटा करना पड़ा।

सेंट्रल रेलवे ने कहा है कि राज्य में भारी बारिश की वजह से 48 ट्रेनें को रद्द किया गया है। 33 का रूट बदलना पड़ा तो 51 का सफर छोटा किया गया है। कई जगह रेल की पटरियां पानी में डूब गई हैं तो कई जगह पटरियों पर कीचड़ जमा है। कुछ जगहों पर पटरियों को काफी नुकसान पहुंचा है। हालांकि, इस बीच मरम्मत का काम भी जारी है।

भारी बारिश और नदियों में उफान आने से कोंकण रेलवे मार्ग पर ट्रेन सेवांए प्रभावित हुई और हजारों यात्री फंस गए। भारी बारिश की वजह से मुंबई सहित राज्य के कई अन्य हिस्सों में रेल और सड़क यातायात प्रभावित हुआ है। इसकी वजह से अधिकारियों को बचाव कार्य में प्रशासन की मदद के लिए एनडीआरएफ को बुलानी पड़ी है। 

भारी बारिश की वजह से कोंकण क्षेत्र की प्रमुख नदियां रत्नागिरि और रायगढ़ जिले में नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं और सरकारी अमला प्रभावित लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने में जुटा है। मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लगातार हो रही बारिश से इन दो तटीय जिलों में उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की है। वहीं भारत मौसम विभाग (आईएमडी) ने तटीय क्षेत्रों के लिए अगले तीन दिन तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।  मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सतर्क रहने और नदियों के जलस्तर पर नजर रखने और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का निर्देश दिया है।