छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस ने तांडव मचा रखा है। कोरोना से राज्य की दुर्दशा बनती जा रही है। सरकार कई पाबंदियां लगा चुकी है और लोग अपने घरों में बैठे हैं लेकिन फिर भी कोरोना बेकाबू होता जा रहा है। कोरोना के हजारों मरीज सामने आ रहे हैं और संक्रमित मरीजों की रोज मौत भी हो रही है। खबर मिली है कि छत्तीसगढ़ के दंडकारण्य जंगल मे 10 नक्सलियों की कोरोना से मौत हो गई है।

नक्सलियों का अंतिम संस्कार किया गया है। कोरोना के कारण निडर नक्सली भी डर गए हैं। बताया जा रहा है कि कम से कम 400 नक्सलियों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैल गया है। दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने इसकी पुष्टि की है। नक्सलियों ने हाल ही में एक बड़ी मीटिंग कई थी जिसमें 500 से ज्यादा माओवादी शामिल हुए थे। मीटिंग के बाद से कुछ माओवादियों बीमार हो गए थे और संक्रमण फैला गया है।


जानकारी के लिए बता दें कि जिस इलाके में  नक्सलियों ने मीटिंग की थी उस इलाके में कम से कम 2 लाख आदिवासी रहते हैं। सइस खबर के बाद से सरकार के हाथ पांव फूल गए हैं। बता जें कि छत्तिसगढ़ में  अब तक 7,27,497 मरीज रिकवर हुए  हैं। यहां 24 घण्टे में मिले 11,867 नए मरीज मिलने और 172 लोगों की कोरोना से मौत होने से प्रशासनिक अधिकारियों की नींद उड़ गई है।