इंग्लैंड के लिवरपूल शहर में एक चार साल का बच्चा नहाते वक्त झुलसा गया। हालांकि ये खबर उस वक्त चौंका देती है, जब पता चलता है कि साबुन के झाग में लगी आग के चलते बच्चा झुलसा है। फिलहाल बच्चे को गंभीर हालत में अस्पताल में एडमिट करवाया गया।

बता दें कि चार साल के ऑस्कर बेडार्ड को उनके पिता बाथरूम में नहला रहे थे। हालांकि नहाने के लिए बेहद ही सस्ती क्वालिटी का साबुन इस्तेमाल किया जा रहा था। बाथरूम में कुछ मोमबत्तियां भी जल रही थीं। ऑस्कर के पिता ने बताया कि जब उन्होंने साबुन से नहलाया गया तो बच्चे के चेहरे पर लगे साबुन के झाग ने अचानक आग पकड़ ली। बेटे के चेहरे पर आग देख उसे बाथरूम में नहला रहे पिता शॉक हो गए। उन्होंने तुरंत पानी डालकर अपने बेटे के चेहरे की आग बुझाई और गीले तौलिए में उसे लपेट दिया। इसके बाद वे तुरंत अपने बेटे को गाड़ी में लेकर एल्डर हे चिल्ड्रन हॉस्पिटल पहुंचे और उसे वहां एडमिट कराया। हॉस्पिटल में मौजूद डॉक्टर्स बच्चे को बिना देरी किए बर्न सेक्शन में ले गए जहां उसका इलाज किया गया। फिलहाल बच्चे की हालत स्थिर है और डॉक्टर्स उसका इलाज कर रहे हैं।

ऑस्कर के पिता ने बताया कि वो अपने बेटे को बाथरूम में नहला रहे थे। उस वजट बाथरूम में कुछ कैंडल्स जले हुए थे। ऑस्कर बेहद खुश होकर नहा रहा था। अचानक उसकी बॉडी में साबुन से बनी झाग मोमबत्ती के संपर्क में आ गई। इससे झाग में आग लग गई। देखते ही देखते उनका चार साल का बेटा आग के गोले में बदल गया। ऑस्कर सिर से लेकर पैरों तक जल गया था। ये शॉकिंग केस जैसे ही सामने आया सभी हैरान रह गए, लोकल मीडिया लिवरपूल इको की खबर के अनुसार, 4 साल के बच्चे का नाम ऑस्कर बेडार्ड है। दर्दनाक हादसे में ऑस्कर की बॉडी पूरी तरह झुलस गई। दर्द में कराहते ऑस्कर के 31 वर्षीय पिता जोनाथन इस हादसे के लिए साबुन कंपनी को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने बताया कि साबुन से बने झाग में आग लगने की वजह से ये हादसा हुआ। घटना के बाद जॉनाथन ने साबुन कंपनी पर मुकदमा ठोंक दिया है। वहीं अभी तक साबुन कंपनी से इस बारे में कोई बयान सामने नहीं आया है।