पश्चिम बंगाल के बीरभूम में जारी हिंसा के बीच कांग्रेस ने राज्य में आर्टिकल 355 लागू करने की मांग कर दी है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर बंगाल में आर्टिकल 355 लागू करने की मांग की है। इससे ये सुनिश्चित हो सकेगा कि राज्य सरकार संविधान के अनुरूप ही काम कर रही है।

यह भी पढ़ें : मणिपुर पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, साबुन के डिब्बों में भरी हेरोइन की जब्त

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल के बीरभूम में 21 मार्च को एक टीएमसी नेता की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद हिंसा भड़क गई और भीड़ ने 5 घरों में आग लगा दी थी, जिससे 2 बच्चों समेत 8 लोगों की जलकर मौत हो गई थी। इसके बाद से ही बीरभूम में तनाव है।

बीरभूम में जारी हिंसा के कांग्रेस के अधीर रंजन ने आर्टिकल 355 लागू करने की मांग की है। राष्ट्रपति कोविंद को लिखे पत्र में अधीर रंजन ने कहा कि पिछले महीने ही बंगाल में 26 लोगों की राजनीतिक हत्याएं हुई हैं। पूरा राज्य हिंसा और भय की चपेट में है। पश्चिम बंगाल में बिगड़ती कानून व्यवस्था को संभालने के लिए अनुच्छेद 355 लागू किया जाए।

यह भी पढ़ें : मणिपुर की सभी स्कूलों में अब होगा बड़ा बदलाव, करना होगा इस नियम का सख्ती से पालन

संविधान के अनुसार, लोक व्यवस्था और पुलिस राज्य के विषय हैं, लेकिन आर्टिकल 355 बिगड़ती कानून व्यवस्था को संभालने के लिए केंद्र को दखल करने का अधिकार देता है। संविधान के आर्टिकल 355 में कहा गया है कि केंद्र सरकार की ये जिम्मेदारी है कि वो हर राज्य की बाहरी आक्रमण और अंदरूनी उथलपुथल की स्थिति में रक्षा करे।

अनुच्छेद 355 केंद्र सरकार को ये अधिकार देता है कि वो राज्य में कानून व्यवस्था संभालने के लिए दखल करे। इसके जरिए केंद्र ये भी देखता है कि राज्य में सबकुछ संविधान के अनुरूप चल रहा है या नहीं।