केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 वैक्सीन के लिए 30 करोड़ लोगों को प्राथमिकता दी है। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि स्वास्थ्य कार्यकर्ता, पुलिस कर्मी, सैन्य और स्वच्छता कर्मचारी, 50 वर्ष से ऊपर के लोग और जो 50 वर्ष से कम आयु के हैं, लेकिन कुछ बीमारियों से पीड़ित हैं, उन्हें सबसे पहले कोविड-19 वैक्सीन मिलेगी विशेषज्ञों के परामर्श के बाद, हमने कोविड वैक्सीन के लिए 30-करोड़ लोगों को प्राथमिकता दी है। हमारा प्रयास है कि हमारी प्राथमिकता सूची में हर कोई कोविड वैक्सीन ले और बीमारी को मात दें।


स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने आगे कहा कि हम टीके के संकोच के मुद्दे को संबोधित करेंगे। अगर कोई इसे नहीं लेने का फैसला करता है, तो हम उन्हें मजबूर नहीं कर सकते हैं। इस मामले पर केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड-19 भी जियो की तरह मिट जाएगा। पोलियो उन्मूलन के लिए वैज्ञानिक रूप से संभव था। अंत में, कोरोनो वायरस भी कम हो जाएगा और हम इसकी छिटपुट घटनाओं में आ जाएंगे तो इसी तरह से पोलियो की तरह कोविड का उन्मूलन किया जा सकता है। इस बीच, कोविड -19 टीकाकरण अभियान के लिए तैयारियां हो चुकी है।


वैसे तो केंद्र पिछले 4 महीनों से कोविड -19 टीकाकरण अभियान के लिए राज्यों के साथ मिलकर काम कर रहा है। हमने राज्य, जिला और ब्लॉक स्तरों पर टास्क फोर्स का गठन किया है। देश भर में हजारों मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षित किए गए हैं। हमने राज्य स्तर पर प्रशिक्षण आयोजित किया है और लगभग 260 जिलों में 20,000 से अधिक कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया है। जल्द ही भारत से कोरोना खत्म कर दिया जाएगा इसके लिए लोगों के सहयोग की जरूरत है।