आज ही का वो दिन था ​जब असम में एक के बाद एक करके हुए सि​लसिलेवार बम विस्फोटों की दुखद घटना के साथ दर्ज है। असम की राजधानी गुवाहाटी और 13 अन्य स्थानों पर 30 अक्टूबर 2008 को हुए इन ताकतवर धमाकों ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया। देश का यह शांत और हरा भरा इलाका धमाकों की आंच से झुलसकर रह गया।

असम के राज्य के कोकराझाड़ जिले में तीन जगहों पर, गुवाहाटी में पांच जगहों पर और बोंगाईगांव में तीन तथा बरपेटा में दो जगहों पर धमाके हुए। इस घटना को लेकर पूरे देश में काफी रोष व्याप्त हुआ था। इसके बाद असम में एनआरसी जैसी प्रक्रिया भी पूर्ण कर ली गई, लेकिन विस्फोट जैसी कोई बड़ी घटना नहीं हुई।

असम में शांति बनाए रखने की अब पुरजोर कोशिश की जा रही है। इसी के चलते दिवाली पर संवेदनशील इलाकों में पटाखे चलाने पर भी रोक लगा दी गई थी। नूनमती रिफाइनरी समेत ऐसे कई इलाकों में प्रशासन ने पटाखे चलाने पर रोक लगा दी थी।