कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में एक तीन साल के बच्चे द्वारा छोटी गणेश मूर्ति निगलने के बाद उसकी हालत गंभीर हो गई। मिली जानकारी के मुताबिक बच्चे ने करीब 5 सेंटीमीटर लंबी भगवान गणेश की मूर्ति को निगल ली थी।  बाद में हालत बिगडऩे पर 3 साल के बच्चे को कर्नाटक के बेंगलुरु में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चमत्कारिक रूप से बच्चे को बचा लिया गया।  बच्चे का इलाज बेंगलुरू के ओल्ड एयरपोर्ट रोड पर स्थित मणिपाल अस्पताल में किया गया। 

मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को यहां बच्चे ने खेल-खेल में गणेश भगवान की छोटी मूर्ति निगल ली।  बाद में बच्चे की ऊपरी छाती में दर्द और लार निगलने में कठिनाई होने लगी।  डॉक्टरों ने जब छाती और गर्दन का एक्स-रे किया गया तो पता चला कि बच्चे के शरीर में गणेश की मूर्ति दिखाई दे रही है, तब डॉक्टरों ने एंडोस्कोपिक विधि का उपयोग करके मूर्ति को निकालने की योजना बनाई और तत्काल बच्चे को एनेस्थीसिया देकर 1 घंटे में एंडोस्कोपी तकनीक से ऑपरेशन कर भगवान गणेश की मूर्ति बाहर निकाली गई।  ऑपरेशन होन के तीन घंटे बाद ही बच्चे ने फीडिंग शुरू कर दी और शाम तक अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। 

बाल रोग विशेषज्ञ डॉ श्रीकांत ने बताया कि मूर्ति के कारण बच्चे की भोजन नली आंशिक रूप से चोटिल होने और छाती में दर्द होने के कारण बच्चे को निगलने में दिक्कत आ रही थी।  अस्पताल निदेशक डॉ मनीष राय ने कहा जब वे बच्चे को अस्पताल लेकर आए तब उसकी हालत बहुत ज्यादा खराब थी, तत्काल इलाज मिलने के कारण बच्चे के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हुआ और उसे बचा लिया गया। उन्होंने कहा कि छोटे बच्चों के माता पिता को विशेष सावधान रहना चाहिए और बच्चों से छोटी चीजों को दूर रखना चाहिए, विशेषकर ऐसी चीजें जिनके निगलने का खतरा रहता है।