24 अक्टूबर को हुए टी20 विश्व कप (T20 world cup) मैच में भारत पर पाकिस्तान (Pakistan win) की जीत के बाद कथित रूप से भारत विरोधी संदेश साझा करने के आरोप में तीन कश्मीरी छात्रों (Kashmiri student) को यहां गिरफ्तार किया गया है।

सोमवार को तीनों छात्रों को राजा बलवंत सिंह इंजीनियरिंग टेक्निकल कॉलेज से निष्कासित कर दिया गया था। वहीं कॉलेज प्रशासन ने घोषणा की थी कि जब तक कश्मीरी छात्रों (Kashmiri student) की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मंगलवार को जबरन परिसर में घुसने वालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती, तब तक कॉलेज बंद रहेगा।

आगरा सर्कल ऑफिसर (लोहामंडी) सौरभ सिंह ने कहा कि अरशद यूसुफ, इनायत अल्ताफ शेख और शौकत अहमद गनई के रूप में पहचाने गए तीन छात्रों को बुधवार देर शाम गिरफ्तार किया गया।

अधिकारी ने कहा, 'उन्हें आज मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा।' भाजपा की युवा शाखा के नेता गौरव राजावत द्वारा भारत की हार के बाद कथित रूप से 'पाकिस्तान समर्थक नारे लगाने और सोशल मीडिया पर इससे संबंधित पोस्ट साझा करने' के लिए शिकायत दर्ज कराने के बाद तीनों छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

एसपी (नगर) विकास कुमार ने बताया कि शिकायत के आधार पर जगदीशपुरा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। एसपी ने कहा, 'इसके अनुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी।' उन्होंने कहा कि पुलिस को यह भी सूचना मिली थी कि कुछ लोगों ने मैच के बाद व्हाट्सएप पर 'राष्ट्र विरोधी संदेश' साझा किए थे।

छात्रों को छात्रावास के साथ-साथ संस्थान से भी निलंबित कर दिया गया है। छात्रावासों के डीन डॉ दुष्यंत सिंह की ओर से जारी नोटिस के मुताबिक 24 अक्टूबर को हुए मैच के बाद छात्रों को 'पाकिस्तान के पक्ष में स्टेटस पोस्ट' कर 'अनुशासनहीनता' में शामिल पाया गया।

कॉलेज की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, 'इसलिए छात्रावास अनुशासन समिति ने इन तीनों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का फैसला किया है। संस्थान के चीफ प्रॉक्टर डॉ आशीष शुक्ला ने कहा कि तीनों कश्मीरी छात्रों ने इस मामले में माफी मांगी है। छात्रों को प्रधानमंत्री स्पेशल स्कोलरशिप स्किम (PMSSS) के तहत संस्थान में प्रवेश मिला था, जो जम्मू-कश्मीर (Jammu-kashmir) और लद्दाख के छात्रों के लिए उपलब्ध है।