हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में बने 9.02 किलोमीटर लंबे अटल टनल में उद्घाटन किया है। यह टनल दुनिया की सबसे बड़ी टनल हैं। उद्धघाटन के कुछ ही दिन बाद खबर मिली है कि यहां टनल में दुर्घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया है। टनल के नियमों का पालन नहीं करने के कारण 24 घंटे में तीन खतरनाक हादसे हो चुके हैं।


खबर मिली है कि टनल मे सफर करने को आतुर लोग लापरवाही से ड्राइविंग कर रहे हैं। इसी लापरवाही के कारण अब तक तीन दुर्घटनाएं हो चुकी है। जानकारी के लिए बता दें कि सीमा सड़क संगठन (BRO) ने 10 हजार फीट की ऊंचाई पर सुरंग का निर्माण किया दुनिया में नाम भी पाया लेकिन सुरक्षा को लेकर एक भी तैनाती नहीं की गई है। हादसों के देखते हुए बीआरओ ने एक फैसला लिया है।

बीआरओ ने फैसला लिया है कि स्थानीय अधिकारियों को टनल में मोटर चालकों की निगरानी के लिए राज्य सरकार ने पुलिस को तैनात कर दिया है। बीआरओ के चीफ इंजीनियर ने ब्रिगेडियर केपी पुरुषोत्तम ने कहा कि यातायात की आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए और सुरंग में दमकल कर्मियों को तैनात के लिए काम किया जा रहा है। ताकि आम लोगों को हादसों का शिकार ना होना पड़े।