हरियाणा के फरीदाबाद जिले में दुर्गा पूजा ( Durga Puja) के बाद यमुना नदी में मूर्ति विसर्जन (Immerse idols in Yamuna river) करने गए परिवार के 3 युवक पानी में डूब गए।  इनकी तलाश की जा रही है। छायसा में यह घटना सामने आई है।  दिल्ली के रहने वाले सुखबीर सिंह और उनका परिवार फरीदाबाद की छायसा गांव से होकर बहने वाली यमुना नदी में मूर्ति विसर्जन (Durga idol immersion in the Yamuna river) के लिए आए थे, जिसमें 17 वर्षीय अनुज, दो चाचा के बेटे (18 वर्षीय सुमित व 16 वर्षीय पीयूष) स्नान करते समय काफी अंदर चले गए और यमुना नदी के बहाव में आने की वजह से तीनों पानी में डूब गए।  पीड़ित परिवार ने इसकी सूचना पुलिस को दी, जिसके पश्चात पुलिस द्वारा गोताखोरों की मदद से युवकों की तलाश की जा रही है। 

जबकि गांव करनेरा स्थित करनेरा कॉलोनी निवासी सुखबीर ने बताया कि 15 अक्तूबर को दोपहर करीब एक बजे वह अपने परिवार के साथ दुर्गा पूजा के बाद मूर्ति विसर्जन के लिए छायसा स्थित यमुना घाट पर पहुंचे।  मूर्ति विसर्जन के बाद परिवार के लोग यमुना नदी में स्नान कर रहे थे कि तभी उसका 17 साल का बेटा अनुज, उनके भाई कर्ण सिंह के बेटे (सुमित और पीयूष) यमुना नदी में नहाने अंदर चले गए।  इस बीच पानी के तेज बहाव के कारण तीनों बच्चे पानी में डूब गए। उनके भाई परिवार सहित महीपालपुर दिल्ली में रहते हैं। 

 

अनुज, सुमित और पीयूष को पानी में डूबते देख हाहाकार मच गया।  कोई उन्हें बचाने के लिए भाग रहा था तो कोई शोर मचाने लगा और काफी संख्या में ग्रामीण मौक पर पहुंचे।  ग्रामीण बच्चों को निकालने को लेकर यमुना नदी में कूद गए, लेकिन काफी प्रयास करने के बाद बच्चों का कोई सुराग नहीं लगा है।