सोशल मीडिया पर गाजर के ढेर की एक फोटो जमकर वायरल हो रही है। लंदन की सड़क पर फैला ये ढेर हर किसी को अपनी ओर खींच रहा है। लोग जमकर टिप्पणी कर रहे हैं। वहीं इसके साथ फोटो क्लिक करने की भी होड़ मची है। हालांकि लोग यह जानने को उत्सुक है कि सड़क के बीचोंबीच ये ढेर क्यों लगाया गया है। कयास जारी हैं और इसी कारण फोटो सोशल मीडिया पर छाई हुई है।

जानकारी के मुताबिक सड़क पर फैली यह 29 हजार किलो गाजर की फोटो दक्षिण लंदन के एक कॉलेज के बाहर की है। कहा जा रहा है कि एक ट्रक ने इन गाजरों को कॉलेज कैंपस के बाहर डाला था। सोशल मीडिया पर जब सवाल बढ़ने लगे तो कॉलेज प्रबंधन को सामने आना पड़ा। कॉलेज ने कहा कि गाजर का ये ढेर एक छात्र के ऑर्ट इंस्टॉलेशन का हिस्सा थी। यह एक इंस्टॉलेशन है जिसे ग्राउंडिंग कहा जाता है। इसे कलाकार और एमएफए छात्र राफेल पेरेज इवांस ने बनाया है। कॉलेज ने यह भी बताया कि यह इंस्टॉलेशन के एमएफए डिग्री शो का हिस्सा है।

मीडिया से बातचीत में राफेल पेरेज इवांस ने कहा कि ये गाजर खाने योग्य नहीं थीं। इन गाजरों को प्रदर्शनी के बाद हटा दिया जाएगा और पालतू जानवरों को चारे के लिए दे दिया जाएगा। उनकी कलाकृति गांव और शहरों के बीच जारी तनाव को प्रदर्शित करती है। जिसमें यूरोपीय किसान फसल का उचित मूल्य न मिल पाने के कारण शहर के बीचोंबीच अपने फसल को डंप कर विरोध जता रहे हैं। दूसरी ओर मीडिया रिपोट्र्स में कहा गया कि इस इंस्टॉलेशन के खत्म होने के बाद भी गाजर को पशुओं को खाने के लिए नहीं भेजा गया है। उन गाजरों के ढेर पर चढ़कर छात्र फोटो खिंचवा रहे हैं। कई छात्र तो उनमें से गाजरों को अपने साथ ले गए।

इंस्टॉलेशन को लेकर सोशल मीडिया पर अलग-अलग टिप्पणियां देखने को मिली। कई लोगों ने इसे खाने की बर्बादी बताया। एक यूजर ने लिखा कि अगर उन्हें जमीन पर नहीं गिराया गया होता तो इसे उन संगठनों को दिया जा सकता था जो भूखों को खाना खिलाते हैं। वहीं, कई लोगों ने कहा कि उन्होंने अपनी कला के माध्यम से किसानों की समस्याओं को प्रदर्शित किया है।