मध्य प्रदेश मे बहुत चौंकाने वाली खबर सामने आई है। कोरोना के संक्रमण से राज्य में हालात गंभीर बने हुए हैं। कोरोना संक्रमण की वजह से मौत का तांडव जारी है। बीते 61 दिनों में 26 हजार 399 मौत हुई हैं। इसी के साथ राज्यों में कोरोना प्रोटोकॉल के तहत 11 हजार 467 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है। यह आंकड़ा बहुत ही हैरान कर देने वाला है। सरकार सख्त कदम उठा रही है।


भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर समेत 26 जिलों के प्रमुख मुक्तिधामों और कब्रिस्तानों से मिले मौत के आंकड़े पर नज़र डालें तो अप्रैल में 21 हजार 601 और मार्च में 4 हजार 798 लोगों की मौत हुई और दो महीनों में कुल 26,399 मौतें हुई हैं। इनमें से कोविड प्रोटोकॉल से 11,467 शवों का अंतिम संस्कार किया गया हैं। भोपाल में 2,675 और इंदौर में 2,259 शवों का अंतिम संस्कार किया गया है।

मौतों का आंकड़ा विश्राम घाट और कब्रिस्तान से निकल कर सामने आई है। सरकारी रिकॉर्ड में कोरोना से मौत का आंकड़ा न के बराबर है। सरकारी फाइलों में भोपाल में रोजाना 4 से 5 मौत कोरोना से बताई जाती हैं। यही हाल प्रदेश के दूसरे जिलों का है, लेकिन सवाल यह उठता है कि जो आंकड़ा विश्रामघाट और कब्रिस्तान से सामने आ रहा है।