दक्षिण अफ्रीका के क्वाजुलु-नताल प्रांत में भारी बारिश के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 253 हो गई है। स्वास्थ्य के लिए कार्यकारी परिषद के क्वाजुलु-नताल सदस्य, नोमागुगु सिमेलने ने टेलीविजन स्टेशन ईएनसीए से बात करते हुए मरने वालों की संख्या की घोषणा की। रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने बारिश से प्रभावित क्षेत्रों के दौरे के बाद शोक संतप्त परिवारों को सांत्वना दी।

ये भी पढ़ेंः घोर कलियुग! चार लोगों ने छिपकली के साथ किया गैंगरेप, सीसीटीवी फुटेज में दिखी करतूत


उन्होंने कहा कि हम पानी को लेकर चिंतित है। हमारी सबसे बड़ी चिंता शवों की संख्या को लेकर है। हमारे शवगृह दबाव में हैं, हम परेशानियों का मुकाबला कर रहे हैं। कल रात तक हमें दो मुर्दाघरों से 253 शव मिले, जो कि फीनिक्स और पाइन टाउन में है। यह एक गंभीर चिंता का विषय है। रामाफोसा क्वाजुलु-नटाल के कई क्षेत्रों में लोगों को संबोधित किया और उनके रिश्तेदारों के खोने पर उन्हें सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि सरकार बारिश से प्रभावित लोगों की मदद करेगी। 

ये भी पढ़ेंः रूस यूक्रेन युद्ध के बीच इस देश में मच गई चीख-पुकार, एक झटके में चली गई 26 लोगों की जान, जानिए पूरा मामला


इन बाढ़ों का सबसे दर्दनाक प्रभाव यह है कि कई लोगों की जान चली गई है, लोगों के घर तबाह हो गए हैं, सड़के, पुल और चर्च तबाह हो गए हैं। हम जानते हैं कि जो हुआ है उसके कारण आपका दिल टूट गया है लेकिन हम आपके साथ हैं। शिक्षा के लिए कार्यकारी परिषद के क्वाजुलु-नताल सदस्य, क्वाजी मशेंगु ने कहा कि उन्होंने प्रांतों में अस्थायी रूप से स्कूल बंद कर दिए हैं क्योंकि शिक्षकों और छात्रों के लिए यात्रा करना खतरनाक है। उन्होंने कहा कि कुछ स्कूल पुलों के बह जाने और पानी के कारण पहुंच योग्य नहीं हैं।