जयपुर के चाकसू इलाके में नौ साल की बच्ची से कथित तौर पर दुष्कर्म करने के आरोप में 25 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। राजस्थान पुलिस के मुताबिक आरोपी की पहचान कमलेश मीणा के रूप में हुई है। चाकसू के कोटखवाड़ा इलाके में एक लड़की लापता हो गई। परिवार के सदस्यों और ग्रामीणों ने लड़की को गांव के बाहरी इलाके में एक सुनसान इलाके में खून से लथपथ अवस्था में बेहोश पाया।

परिवार के सदस्यों ने स्थानीय लोगों की मदद से लड़की को नजदीकी सरकारी अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने नाबालिग के रिश्तेदार को सूचित किया। कि उसके साथ किसी ने रेप किया है। इसके बाद परिजनों ने कोटखवाड़ा थाने में शिकायत दर्ज कराई। कोटखवाड़ा पुलिस स्टेशन जगदीश प्रसाद तंवर ने कहा, "हमने अज्ञात अपराधी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और पॉक्सो अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत नाबालिग के अपहरण और बलात्कार के लिए प्राथमिकी दर्ज की है।"


तंवर ने आगे कहा कि एक पुलिस टीम का गठन किया गया और जांच के लिए घटना स्थल पर पहुंच गई। उन्होंने कहा कि "हमने मौके से सभी सबूत एकत्र किए और नाबालिग के अपराधियों को पकड़ने के लिए वैज्ञानिक साक्ष्य एकत्र करने के लिए फोरेंसिक विशेषज्ञों की मदद ली।" अधिकारी ने आगे कहा कि उनकी जांच के दौरान, उन्हें पता चला कि नाबालिग को आखिरी बार कमलेश के साथ देखा गया था, जो शराब के नशे में था।


कमलेश लड़की को सुनसान जगह पर ले गया और घंटों दुष्कर्म किया। कमलेश को जयपुर के पॉक्सो कोर्ट में पेश किया गया और जेल भेज दिया गया। नाबालिग बच्ची का इलाज सरकारी अस्पताल में चल रहा है।