पूर्वोत्तर राज्य त्रिपुरा में अगरतला के एक रेलवे स्टेशन से संदिग्ध आतंकी संबंध के आरोप में 24 बांग्लादेशी युवकों को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया।


पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सभी के पास जाली आधार कार्ड थे और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की एक टीम युवकों से पूछताछ के लिए शुक्रवार को गुवाहाटी से यहां आ रही हैं।


एमटीएफ के पुलिस अधीक्षक अभिजीत चौधरी ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर मोबाइल कार्य बल (एमटीएफ) के कर्मियों ने रेलवे स्टेशन पर छापा मारा और 24 बांग्लादेशियों को पकड़ लिया। वे त्रिपुरा सुंदरी एक्सप्रेस से दिल्ली से यहां पहुंचे थे। एमटीएफ राज्य पुलिस का एक खंड है जो अवैध प्रवासन और संबंधित मामलों को देखता है।


चौधरी ने कहा, 'उन सभी के पास जाली आधार कार्ड थे। वे पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु से जारी हुए थे। हमने आधार कार्ड ऑनलाइन जांचे और पाया कि ये फर्जी हैं. उनमें से कुछ के पास हमारे देश के विभिन्न मदरसों की ओर से जारी पहचान पत्र थे।' उन्होंने कहा कि हम किसी आतंकी संगठन से उनके संबंधों की आशंका को खारिज नहीं कर सकते हैं।


उन्होंने कहा कि युवकों के पास वैध पासपोर्ट नहीं था। तीन के पास बांग्लादेशी पासपोर्ट थे जो काफी समय पहले ही समाप्त हो चुके थे। उनकी गिरफ्तारी के बाद डीजीपी ने विभिन्न केंद्रीय और राज्य एजेंसियों से उनसे पूछताछ करने को कहा है।