त्रिपुरा।  साल 2018 में देश के कुल आठ राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले है. त्रिपुरा , मेघालय, मिजोरम और नागालैंड  के साथ-साथ कर्नाटक, मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में भी विधानसभा चुनाव होंगे . फ़िलहाल कांग्रेस के पास कर्नाटक, त्रिपुरा, मेघालय, और मिजोरम राज्यों में सत्ता है . वही राजस्थान , मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ पर बीजेपी का सत्ता है। 

साल 2018 में  देश की चुनावी सियासत में बड़ी उथल-पुथल होने वाली है. ये सियासी सरगर्मी आगे चलकर 2019 में अपना असली रंग तब दिखाएगी जब लोकसभा चुनाव का बिगूल बज चूका होगा। 

इन चुनावों को 2019 के लोकसभा चुनावों के नज़रिये से भी बेहद अहम माना जा रहा है.अगर इन्हें  2019 का सेमीफाइनल कह दिया जाये तो अतिश्योक्ति नहीं होगी. फ़िलहाल बीजेपी देश के 19 राज्यों में काबिज है और 68 % आबादी पर राज्य कर रही है. विजय का अचूक मंत्र सिख चुकी बीजेपी इन राज्यों में भी कोई कसर नहीं छोड़ने वाली। 

इसलिए बीजेपी रोडमैप तैयार कर अपने सबसे काबिल सिपाहियों को मैदान में उतार भी चुकी है. जहां अन्य पार्टियां प्लानिंग स्टेज में है, वही बीजेपी ने क्रियान्वन तक का सफर तय कर लिया है . इसका सबुत है, उप के मुख़्यमंत्री योगी को स्टार प्रचारक के रूप में कर्नाटक भेजा जाना ।

बहरहाल इन आठ राज्यों में कुल 964 विधानसभा सीटे है. जिनमे से 417 बीजेपी के पास है और 321 पर कांग्रेस का कब्ज़ा है. कांग्रेस के लिए आगामी सभी मुकाबले अस्तित्व की लड़ाई के तौर पर भी महत्वपूर्ण होंगे।