वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आम बजट पेश किया। केन्द्रीय बजट में सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में से सबसे ज्यादा राशि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना यानि की पीएम किसान के लिए आवंटित की गई है। इस योजना पर सबसे ज्यादा 75 हजार करोड़ रुपए बजट प्रावधान किया गया है। केन्द्रीय बजट में कृषि, सिंचाई, ग्रामीण विकास, जल और स्वच्छता, अरोग्यता के लिए प्रावधान किए गए हैं।


इनके साथ ही शिक्षा, कौशल, उद्योग, वाणिज्य, निवेश से जुड़ी घोषणाएं की गई हैं। इन्फ्रास्टक्चर, नई अर्थव्यवस्था, महिला एवं बाल, सामाजिक कल्याण, संस्कृति एवं पर्यटन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन के साथ अन्य क्षेत्रों के लिए बजट प्रावधान के साथ कई घोषणाएं की गई हैं। बजट में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कार्यक्रम पर 61,500 करोड़ रुपए का अनुमानित बजट प्रावधान किया गया है। आइए आपको बताते हैं कि केन्द्रीय योजनाओं के लिए कितना बजट आवंटित किया गया है।



इन योजनाओं को मिला इतना अनुमानित बजट

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी कार्यक्रम
61,500 करोड़


राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम
9197 करोड़


अनुसूचित जाति के विकास के लिए अम्ब्रैला योजना
6242 करोड़


अनुसूचित जनजातियों के विकास के लिए अम्ब्रैला कार्यक्रम
4191 करोड़


अल्पसंख्यकों के विकास के लिए अम्ब्रैला कार्यक्रम
1820 करोड़


अन्य असुरक्षित समूहों के लिए अम्ब्रैला कार्य्रकम
2210 करोड़


राष्ट्रीय गंगा योजना
800 करोड़


प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना
19,500 करोड़


प्रधानमंत्री आवास योजना यानि पीएमएवाई
27,500 करोड़


जल जीवन मिशन यानि जेजेएम
11,500 करोड़


स्वच्छ भारत मिशन
12,294 करोड़


राष्ट्रीय स्वस्थ्य मिशन
34,115 करोड़


राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन—सम्रग शिक्षा
39,161 करोड़


पीएमजेएवाई—आयुष्मान भारत
6429 करोड़


प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि यानि पीएम किसान
75,000 करोड़


दीन दयाल अंत्योदया योजना राष्ट्रीय आजीविका मिशन
10,005 करोड़


प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना
6020 करोड़


अम्ब्रैला एकीकृत बाल विकास योजना कार्य एवं कौशल विकास
28,557 करोड़


स्कूलों में राष्ट्रीय मध्याह्न भोजन कार्यक्रम
11,000 करोड़