राफेल डील की जांच की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे सीपीएम के करीब 20 समर्थक घायल हो गए हैं। पार्टी ने आरोप लगाया कि साउथ त्रिपुरा में बीजेपी समर्थित लोगों ने प्रदर्शनकारियों पर पथराव किया, जिसमें सीपीएम के करीब 20 कार्यकर्ता घायल हो गए हैं।

साउथ त्रिपुरा डिस्ट्रिक्ट एसपी जल सिंह मीणा ने कहा कि बेलोनिया में सीपीएम ने रैली आयोजित की थी, जो पार्टी ऑफिस से शुरू हुई थी। रैली के बीच में, करीब 25 लोगों के ग्रुप ने सीपीएम कार्यकर्ताओं पर पत्थरबाजी कर दी। उन्होंने कहा कि पुलिस ने इसमें तुरंत हस्तक्षेप किया और हालात पर काबू पा लिया और पत्थरबाज मौके से भागने में कामयाब हो गए। इसके बाद सीपीएम समर्थन, जिन्होंने यह रैली की थी, एक मीटिंग आयोजित की।

सीपीएम के डिविजनल सेक्रेटरी तपस दत्ता ने बताया कि यह पत्थरबाजी बीजेपी समर्थकों ने की थी।हम जब जन एकता अधिकार मंच की रैली निकाल रहे थे तो पुलिस स्टेशन के पास हमारे ऊपर बीजेपी के समर्थकों ने पथराव कर दिया। हम राफेल डील में हुए घोटाले की जांच की मांग कर रहे थे, हमने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के इस्तीफे की भी मांग की।

सीपीएम नेता ने आगे बोलते हुए कहा कि इस हमले में 20 सीपीएम समर्थक घायल हो गए हैं। इस मामले में 10 बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ FIR दर्ज हो गई है। वहीं बीजेपी ने सीपीएम के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। साथ ही बीजेपी प्रवक्ता अशोक सिन्हा ने कहा कि इस प्रकार ने हमले से बीजेपी बचती है। हमारी पार्टी का इसमें कोई हाथ नहीं है।