उत्तरी कश्मीर के सोपोर में शनिवार को पुलिस के गश्ती दल पर आतंकवादी हमले में दो जवान शहीद हो गये और दो नागरिकों की मौत हो गयी, वहीं अन्य तीन घायल हो गये। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों ने सोपोर के मुख्य चौराहे पर पुलिस के गश्ती दल पर अंधाधुंध गोलीबारी की। रोड ओपनिंग पार्टी और गश्ती दल के जवानों की जवाबी कार्रवाई से पहले ही हमलावर वहां से भाग निकले। 

हमले में पुलिस के चार जवान और तीन नागरिक घायल हो गये। सभी घायलों को तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने दो जवान और दो नागरिकों को मृत घोषित कर दिया। अन्य घायल जवान तथा नागरिकों की हालत गंभीर बनी हुई है। उन्होंने बताया कि अतिरिक्त सुरक्षा बल मौके पर पहुंच गये हैं और हमले के लिए जिम्मेदार आतंकवादियों को पकड़ने के लिए सघन घेराबंदी और तलाश अभियान शुरू कर दिया गया है। विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा की जा रही है। 

वहीं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती ने सोपोर में शनिवार को आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा की। नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष अब्दुल्ला ने ट्विटर पर लिखा, सोपोर से बुरी खबर आ रही है। इस तरह के हमलों की कड़ी निंदा की जानी चाहिए। घायलों के स्वस्थ होने की प्रार्थना और मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने एक ट्वीट में बंदूक के इस्तेमाल की भर्त्सना  करते हुए कहा, चाहे वह दिल्ली की बंदूक हो या हमारे युवाओं ने हथियार उठाए हों, यह कश्मीर मुद्दे को सुलझाने में हमारी मदद नहीं कर सकता।