तमिलनाडु के तंजावुर जिले में बुधवार सुबह अप्पार मठ के एक रथ के ऊपरी हिस्से के बिजली के तार से टकरा जाने से 11 लोगों की करंट लगने से मौत हो गई और 16 अन्य घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक हादसा कालीमेडु गांव में हुआ। अपने गंतव्य के नजदीक एक मोड़ वाली सड़क पर जाते समय रथ का ऊपरी हिस्सा एक हाई वोल्टेज लाइन के संपर्क में आया, जो लगभग 30 फीट ऊंचा था।

ये भी पढ़ेंः कोरोना के बढ़ते मामले के बीच राहत भरी खबर, चौथी लहर को लेकर विशेषज्ञ ने किया बड़ा दावा


बचाव कार्य के लिए जिला अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने कहा कि तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से घायल आठ अन्य लोगों ने बाद में दम तोड़ दिया। दमकल विभाग के एक अधिकारी ने मीडिया को बताया कि आयोजकों को विभाग से कोई अनुमति नहीं मिली जो आमतौर पर की जाती है। अधिकारियों ने कहा कि रथ के शीर्ष पर कई सजावटी रोशनी थीं और जब यह हाई टेंशन केबल को छू गई, तो दुर्घटना हो गई।

ये भी पढ़ेंः FD कराने वालों की हो गई मौज! इतना जबरदस्त ब्‍याज देगा ये बैंक


मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने शोक व्यक्त करते हुए मृतकों के परिवारों को 5 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की। स्टालिन तंजावुर जाएंगे और मृतकों और घायलों के परिवारों से मिलेंगे और उन्हें सांत्वना देंगे। राज्य विधानसभा में शोक प्रस्ताव पारित किया गया है।