भारत की सुरक्षा एजेंसियों 29 साल बाद बड़ी कामयाबी मिली है। दरअसल 1993 में मुंबई में हुए सीरियल ब्लास्ट (1993 Mumbai Blast) में मोस्ट वॉन्टेड आतंकी अबु बक्र (Abu Bakar Caught In UAE) को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से गिरफ्तार कर लिया गया है। मुंबई में हुए इस सीरियल ब्लास्ट में अलग-अलग जगहों पर 257 लोग मारे गए थे, जबकि 713 लोग घायल हुए थे। 

बता दें कि आतंकी अबु बक्र को मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) का करीबी सहयोगी माना जाता है। उस पर मुंबई में सीरियल ब्लास्ट (Mumbai Blast) के दौरान इस्तेमाल हुए आरडीएक्स (RDX) को भारत लाने का आरोप है। वह पिछले काफी समय से पाकिस्तान और संयुक्त अरब अमीरात में छिपकर रह रहा था। हालांकि, यूएई की एजेंसियों के सहयोग से भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने उसे धर दबोचा। बता दें कि मुंबई हमलों का मुख्य साजिशकर्ता दाऊद इब्राहिम है। इस हमले को टाइगर मेमन (Tiger Memon) और याकूब मेमन (Yakub Memon) के माध्यम से अंजाम दिया गया था। सूत्रों ने कहा कि कारोबार में दिलचस्पी रखने वाला बक्र खाड़ी देशों से मुंबई में सोने और इलेक्ट्रॉनिक्स सामानों की तस्करी में भी शामिल रहा है। 

अबु बक्र (Abu Bakar), जिसका पूरा नाम अबु बक्र अब्दुल गफूर शेख है। उसका नाम मोहम्मद और मुस्तफा दोसा के साथ तस्करी के मामलों में भी जुड़ा है। ये दोनों दाऊद इब्राहिम के खास थे। 1997 में उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था और तब से उसे पकडऩे की तलाश जारी थी जो अब संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के सूत्रों के अनुसार सफल रही है। अबु बक्र ने एक ईरानी नागरिक से शादी की है जो उसकी दूसरी पत्नी है। सूत्रों के मुताबिक उसके प्रत्यर्पित कर के भारत लाए जाने की संभावना है, हालांकि इस संबंध में तत्काल कोई कार्रवाई नहीं हुई है।