काबुल अफगानिस्तान (Afganistan) के नेशनल हाउस ऑफ जर्नलिस्ट्स (National House of Journalists) ने अपने नवीनतम सर्वेक्षण में कहा कि देश में पिछले सात महीनों में 475 में से 180 मीडिया आउटलेट बंद हो गए हैं। खामा प्रेस ने अपनी रिपोर्ट में इसकी सूचना दी। मीडिया निकाय ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि तालिबान के अधिग्रहण के बाद अफगान मीडिया आउटलेट सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं, जिसके परिणामस्वरूप देश में केवल 290 मीडिया आउटलेट सक्रिय रह गए हैं। 

यह भी पढ़ें- Happy Holi Wishes 2022: रंगों इस फेस्टिवल पर अपनों को इन मैसेज से भेंजे शुभकामनाएं , बोलें- Happy Holi

नेशनल हाउस ऑफ जर्नलिस्ट्स के प्रमुख सैयद यासीन मतीन ने कहा, 'मीडिया के बड़े पैमाने पर बंद होने का कारण आर्थिक संकट और देश से पेशेवर मीडियाकर्मियों का पलायन है।' 

यह भी पढ़ें- Holika Dahan 2022 Subh Muhurat: फाल्गुन पूर्णिमा दोपहर 1:29 से प्रारंभ होगी, जानिए होलिका दहन और होली पूजा का शुभ मुहूर्त

खामा प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार अफगानिस्तान में आर्थिक संकट और मीडिया के लिए विदेशी समर्थन समाप्त होने के अलावा, अफगान पत्रकारों द्वारा उद्धृत जानकारी तक पहुंच की कमी देश में मीडिया के लिए एक और बड़ा मुद्दा है। इस पर अफगान सरकार ने इस दावे का खंडन करते हुए कहा कि देश में मीडिया आउटलेट्स दान मिलने के कारण बंद हो रहे हैं। खामा प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ने अफगान पत्रकारों और मीडिया को प्रतिबंधित करने से इनकार किया है।