फर्जीवाड़े के तहत असम लोक सेवा आयोग(एपीएसी) की परीक्षा में उत्तीर्ण होकर पुलिस के हत्थे चढ़े 14 एसीएस व एपीएस अधिकारियों को यहां विशेष अदालत में हाजिर कराया गया, जहां से अदालत ने इन सभी को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

सोमवार को यहां विशेष अदालय में पेशी के बाद अदालत ने सभी 14 अधिकारियों को न्यायिक जिम्मे पर भेजने का निर्देश जारी कर दिया। इनमें रुमी सइकिया भी शामिल है।

जांच अधिकारी तथा डिब्रूगढ़ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरजीत सिंह पानेसर ने बताया कि इन सभी फर्जीवाड़े के तहत एपीएससी उत्तीर्ण हुए अधिकारियों की केस डायरी अदालत को सौंप दी गई है।

इसी बीच पूर्व मंत्री नीलमणिसेन डेका के पुत्र राजर्षिसेन डेका ने अदालत में फिर से जमानत मांगते हुए आवेदन दाखिल किया है। मंगलवार को राजर्षि की जमानत याचिका पर सुनवाई होगी।