मध्य प्रदेश के छतरपुर में ऑनलाइन गेम में एक 13 वर्षीय बच्चे ने 40 हजार रुपए गंवा दिए। इसके बाद इस लड़के ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) शशांक जैन ने बताया कि छठी कक्षा के एक छात्र ने शुक्रवार दोपहर को अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली और घटनास्थल से एक सुसाइड नोट मिला है। उन्होंने बताया,‘‘ सुसाइड नोट में छात्र ने लिखा है कि उसने मां के खाते से 40 हजार रुपए निकाले और इस पैसे को ‘‘ फ्री फायर’’ गेम में बर्बाद कर दिया। छात्र ने अपनी मां से माफी मांगते हुए लिखा है कि अवसाद के कारण वह आत्महत्या कर रहा है।’’

पुलिस ने बताया कि लड़के ने जब यह कदम उठाया तब उसकी मां और पिता घर पर नहीं थे। छात्र की मां प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग में नर्स हैं और घटना के समय जिला अस्पताल में थीं। उन्होंने बताया कि रुपयों के लेनदेन को लेकर छात्र की मां के फोन पर संदेश आया ,जिसके बाद मां ने अपने बेटे को इसके लिए डांट लगाई थी। इस पर लड़के ने कमरे में खुद को बंद कर लिया। कुछ देर बाद उसकी बड़ी बहन वहां पहुंची तो उसने कमरा अंदर से बंद पाया और इसकी सूचना अपने माता-पिता को दी।

उन्होंने बताया कि कमरे के दरवाजे को तोड़ा गया तो लड़का पंखे से लटका मिला। इसके बाद आनन फानन में उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि क्या वह खुद खेल पर पैसा खर्च कर रहा था या कोई और उसे पैसे के लिए धमका रहा था। इससे पहले, जनवरी माह में मध्य प्रदेश के सागर जिले के ढाना कस्बे में भी इसी प्रकार का ममला सामने आया था। एक पिता ने ‘‘फ्री फायर’’ गेम की लत के कारण अपने बेटे से मोबाइल फोन छीन लिया तो 12 वर्षीय छात्र ने कथित तौर पर फांसी लगा ली थी।