मध्य और दक्षिणी यूरोप में शक्तिशाली तूफान से तीन बच्चों सहित कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई। ज्यादात्तर मौतें पेड़ों के गिरने से बताई गई हैं। स्थानीय मीडिया ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मीडिया के अनुसार, यह तूफान इटली, ऑस्ट्रिया और फ्रांस के कोर्सिका द्वीप पर आया। 

ये भी पढ़ेंः नाबालिग से दुष्कर्म करने वाले दोषी को मिली 14 साल के सश्रम कारावास की सजा


भारी बारिश और तूफान से इन द्वीपों पर स्थित शिविरों को तबाह कर दिया, जबकि वेनिस, इटली में, सेंट मार्क बेसिलिका के बेल टावर का ऊपरी हिस्सा टूट गया। बीबीसी की रिपोर्ट को मुताबिक, शिविरों पर पेड़ गिरने से 13 साल की बच्ची की मौत हो गई और इसी तरह की घटना में एक व्यक्ति तथा एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। एक मछुआरे और एक कैकर समेत दो अन्य लोगों की समुद्र में डूबने से मौत हो गई। 

ये भी पढ़ेंः CBI की रेड के बाद AAP का ताबड़तोड़ हमला, कहाः पीएम Modi को नहीं आती रातों को नींद, इसलिए डलवा रहे हैं छापे


फ्रांस के गृह मंत्री गेराल्ड डारमैनिन तूफान से हुए नुकसान का जायजा लेने, जब कोर्सिका पहुंचे, तब उन्होंने एक अन्य व्यक्ति की मौत की सूचना दी। द्वीप के और उसके आस-पास के लोग भीषण तूफान में हताहत हुए हैं। मीडिया ने ऑस्ट्रिया के काङ्क्षरथिया में एक झील के पास पेड़ गिरने से दो किशोरियों तथा तीन अन्य व्यक्ति की मौत की जानकारी दी। इटली के टस्कनी क्षेत्र में अलग-अलग घटनाओं में पेड़ गिरने से एक पुरुष और एक महिला की मौत हो गई।