पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ऐतिहासिक मीनार-ए-पाकिस्तान पर यूट्यूबर युवती के कथित यौन उत्पीड़न के मामले में पुलिस ने अब तक 126 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस घटना के बाद पूरे देश में रोष व्याप्त हो गय था और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी इस घटना की निंदा की गई। 

यह घटना 14 अगस्त की है जब लाहौर में मीनार-ए-पाकिस्तान के पास आजादी चौक पर सैकड़ों युवा स्वतंत्रता दिवस मना रहे थे। वीडियो में सैकड़ों युवकों को पीड़िता को हवा में उछालते हुए, घसीटते हुए, उसके कपड़े फाड़ते और उसके साथ छेड़छाड़ करते हुए देखा जा सकता है। पुलिस ने गत मंगलवार को 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ 14 अगस्त को युवती और उसके साथियों के साथ मारपीट करने का मामला दर्ज किया था।

पंजाब के पुलिस महानिरीक्षक इनाम गनी ने एक बयान में कहा, पुलिस ने वीडियो फुटेज के जरिए पहचान करके अब तक इस मामले में 126 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। उन्हें शिनाख्त परेड के लिए जेल भेजा गया है जहां पीड़िता इन संदिग्धों की पहचान करेगी। पीड़िता ने प्राथमिकी में कहा है कि वह और उसके यूट्यूब चैनल के छह अन्य सदस्य स्वतंत्रता दिवस समारोह का वीडियो बनाने के लिए मीनार-ए-पाकिस्तान लाहौर के पास आजादी चौक पर गए थे। पीड़िता ने कहा, जब हम वीडियो शूट कर रहे थे तब बड़ी संख्या में युवाओं ने मुझे छेड़ना शुरू कर दिया। उनकी संख्या बढ़ती गई। उन्होंने मेरे कपड़े फाड़े और मेरे साथ छेड़छाड़ की। उन्होंने मुझे घसीटा और हवा में उछाला। यह करीब ढाई घंटे तक चला। बाद में एक सुरक्षाकर्मी ने मुझे बचाया।