गाजियाबाद से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जिसमें महज 11 साल की उम्र में एक बच्चे ने अपने मां-बाप की नींद उड़ा दी। बच्चा एक महीने तक एक प्रोफेशनल अपराधी की तरह उन्हें परेशान करता रहा। परिवार पूरी तरह टूट चुका था। फिर बच्चे ने 10 करोड़ रुपए की रंगदारी का ईमेल किया। पिता ने साइबर सेल में शिकायत की। पुलिस ने जांच शुरू की तो घर के इंटरनेट प्रोटोकॉल (आईपी) से ही ईमेल आने का पता चला। 

परिवार के हर सदस्य से पूछताछ हुई तो पता चला 5वीं में पढऩे वाले बच्चे ने यह हरकत की है। यह हैरान कर देने वाला मामला यूपी में गाजियाबाद के इंदिरापुरम का है। बच्चे के पिता इंदिरापुरम में रहते हैं। सरकारी विभाग में उच्च पद पर हैं। उन्हें कई दिनों से ईमेल पर धमकी मिल रही थी। उन्होंने अपने इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर से मदद मांगी, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। करीब एक महीने से पूरा परिवार परेशान था।

साइबर क्राइम सेल के प्रभारी सुमित कुमार ने बताया बच्चे को कुछ समय पहले कंप्यूटर की ऑनलाइन क्लास के दौरान साइबर अपराध और उनसे बचने के संबंध में जानकारी दी गई थी। इस बारे में बच्चे ने यूट्यूब पर खूब विडियो देखी। किस तरह से ईमेल बनाते हैं और साइबर अपराध कैसे होता है आदि के बारे में विडियो देखी। यहीं से जानकारी जुटाकर उल्टे-सीधे मेल भेजने लगा। यह क्रम पिछले साल 24 जनवरी से 23 जनवरी के बीच तक चला। पुलिस बच्चे से अभी पूछताछ कर रही है।

जानकारी के अनुसार गाजियाबाद के इस परिवार को कोई पिछले दिनों 10 करोड़ रुपए की रंगदारी का ईमेल भेज रहा था। इससे परिवार बुरी तरह डर गया। मामले से घबराकर पीडि़त सीधे साइबर सेल पहुंचा और शिकायत की। पुलिस की जांच में जिस आईपी से ईमेल आता था, वह उसी घर की मिली। अब शक परिवार पर ही आ गया। हर सदस्य से पुलिस ने अलग-अलग पूछताछ की। इसी क्रम में 11 साल के बच्चे ने घटनाक्रम के बारे में बता दिया।