आयकर विभाग ने आगामी लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं को  प्रलोभन देने के लिए काले धन का उपयोग करने वालों को नियंत्रित करने का प्रयास शुरू कर दिया है। मालूम हो कि आयकर विभाग ने अब तक पूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र में छापेमारी कर काले धन का एक करोड़ पचास लाख रूपए जब्त कर लिए हैं।


बैंको में संदिग्ध अवस्था में नजदीकी लेन-देन पर कड़ी नजर रखी जा रही है। बैंकों से आग्रह किया गया है कि वह दस लाख रूपए से उपर की राशि का जमा करने वाले अथवा निकासी करने वालों की रिपोर्ट अविलंब आयकर विभाग की अन्वेषण शाखा को दे, जिससे कि फौरन कारवाई करने में आयकर विभाग के अधिकारियों को सहूलियत हो।



उल्लेखनीय है कि आयकर विभाग की पूर्वोत्तर शाखा द्वारा प्रमुख हवाई अड्डों पर आने-जाने वालों की सघन जांच की जा रही है।इतना ही नहीं पूर्वोत्तर के सातों राज्यों के 112 जिलों में  निगरानी टीम की व्यवस्था करने में जुटी है, जिससे कि चुनावी प्रक्रिया को बाधित करने वालों के खिलाफ फौरन कारवाई की जी सके।