उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों (UP Assembly Elections) से पहले अखिलेश यादव (akhilesh yadav) ने बड़ा दांव खेला है। दरअसल अखिलेश ने रालोद के अध्यक्ष जयंत चौधरी ( jayant chaudhary) के साथ यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सपा सरकार में किसानों को गन्ने के भुगतान के लिए 15 दिन से ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय लोक दल (Rashtriya Lok Dal) (रालोद) के साथ टिकट वितरण को लेकर मामूली भ्रम की जो स्थिति है उसे दो दिन में दूर कर लिया जायेगा। 

अखिलेश यादव (akhilesh yadav) ने फिर दोहराया कि वे 300 यूनिट बिजली फ्री देंगे और सिंचाई के लिए बिजली माफ होगी। किसानों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) (MSP) पर खरीद के लिए इंतजाम किये जायेंगे। गन्ने के भुगतान के लिए उन्हें इंतजार न करना पड़े इसके लिए ‘फार्मर कॉरपस फंड’ और ‘फॉर्म रिवाल्विंग फंड’ (Form Revolving Fund) बनाएंगे। अखिलेश ने भाजपा पर नकारात्मक सोच के साथ सरकार चलाने का आरोप लगाते हुए भरोसा जताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश का यह क्षेत्र नकारात्मक सोच को नकारने का काम करेगा। उन्होंने कहा, हमें भरोसा है कि भाजपा का सफाया होगा। 

इस बीच पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के जनसंपर्क अभियान से जुड़े एक सवाल के जवाब में अखिलेश (akhilesh yadav) ने कटाक्ष किया कि भाजपा के लोग कोरोना (Corona) फैलाने के लिये पर्चे बांट रहे हैं। चुनाव आयोग को ऐसे लोगों पर रोक लगानी चाहिये जो ये भूल गये है कि कोरोना कैसे फैलता है। अखिलेश ने कहा कि अपराध पर नियंत्रण के लिये सपा सरकार में शुरु की गयी 100 नंबर गाडिय़ोंं और एंबुलेंस की संख्या भी दोबारा सरकार बनने पर बढ़ाई जायेगी। इस मौके पर उन्होंने सस्ते और मुफ्त राशन वितरण में मिल रहे रिफाइंड तेल को सेहत के लिये नुकसानदायक बताते हुये लोगों से आह्वान किया कि वे भाजपा का रिफाइंड तेल न खायें।