एक सितंबर से लॉकडाउन में छूट के चौथे चरण 'अनलॉक 4' की शुरुआत हो रही है। सूत्रों की मानें तो 'अनलॉक 4' में सरकार मेट्रो ट्रेन सेवा को फिर से शुरू कर सकती है। हालांकि स्कूलों और कॉलेजों के खुलने को लेकर अभी किसी भी संभावना से इनकार किया गया है।

बार संचालकों को भी अपने काउंटर पर शराब बेचने की अनुमति दी जा सकती है लेकिन यह इजाजत ग्राहकों द्वारा उसे घर ले जाने के लिए होगी। जाहिर है अब तक बार खोलने की अनुमति नहीं दी गई है।

एक अधिकारी ने इस बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि 'अनलॉक 4' की जब शुरुआत होगी, तब एक सितंबर से मेट्रो रेल सेवाओं को परिचालन की अनुमति दी जा सकती है। हालांकि राज्यों में परिवहन सेवा शुरू किए जाने को लेकर कहा गया है कि संबंधित राज्य सरकार वहां की कोरोना वायरस महामारी की स्थिति के आधार पर ही परिचालन संबंधी निर्णय लेगी।

बता दें, मार्च महीने में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मेट्रो सेवाएं निलंबित कर दी गई थीं। इस महामारी की वजह से देश में अब तक 31 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं।

स्कूल खुलने को लेकर अधिकारी ने बताया कि तत्काल स्कूल और कॉलेज नहीं खोले जाएंगे। हालांकि विश्वविद्यालय, आईआईटी और आईआईएम जैसे उच्च शिक्षण संस्थानों को खोलने की अनुमति दी जाए या नहीं, इस पर गहन विचार-विमर्श चल रहा है।

सिनेमाघर को लेकर एक अन्य अधिकारी ने कहा कि एक सितंबर से सिनेमाघरों को खुलने की अनुमति देने की संभावना करीब-करीब नहीं है।क्योंकि फिल्मकारों या सिनेमाघर मालिकों के लिए एक दूसरे से दूरी बनाकर चलने के नियम का अनुपालन करते हुए अपना कारोबारी काम करना वाणिज्यिक रूप से व्यावहारिक नहीं होगा।

अनलॉक 4 के दिशा-निर्देशों में केंद्र सरकार केवल प्रतिबंधित गतिविधियों की ही बात करेगी। अधिकारी के अनुसार राज्य सरकारें उन अतिरिक्त गतिविधियों पर अंतिम निर्णय ले सकती हैं जिन पर अनलॉक 4 के दौरान भी पाबंदी जारी रहे।

अनलॉक 4 को लेकर इस सप्ताह के आखिर तक दिशानिर्देश जारी किये जा सकते हैं। फिलहाल मेट्रो रेल सेवाएं, सिनेमाघर, स्वीमिंग पूल, मनोरंज पार्क, थियेटर, बार , ऑडिटोरियम, अन्य सभागार और ऐसे अन्य सभी स्थान प्रतिबंधित हैं।