जेट एयरवेज के बाद किफायती विमानन कंपनी स्पाइस जेट के 1 सितंबर से त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में संचालन बंद करने के फैसले के बाद, मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देब ने इस मामले में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय से हस्तक्षेप की मांग की है। एक अधिकारी ने शनिवार को यहां यह जानकारी दी।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री सचिवालय के एक अधिकारी ने कहा, 'मुख्यमंत्री बिप्लव कुमार देब ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु से शुक्रवार को विमानन कंपनी से उसका फैसला बदलने के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की है।'

इससे पहले जेट एयरवेज ने राजस्व घाटे का हवाला देते हुए त्रिपुरा में अपनी सेवाएं समाप्त कर दी थी।

मौजूदा समय में इंडिगो और एयर इंडिया दो अन्य एयरलाइन हैं जो अगरतला मार्ग पर संचालित हैं। दोनों विमानन कंपनी अगरतला से दिल्ली, कोलकाता, गुवाहटी, इंफाल और सिलचर के लिए अपनी सेवाओं देते हैं।

अगरतला हवाईअड्डा जिसका नाम बदलकर महाराजा बीर बिक्रम किशोर माणिक्य बहादुर कर दिया गया है, पूर्वोत्तर क्षेत्र में गुवाहाटी के बाद सबसे व्यस्त हवाईअड्डा है।