मणिपुर विश्वविद्यालय (एमयू) के छात्रों तथा विभिन्न छात्र संगठनों ने विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर आद्य प्रसाद पांडे को हटाने की मांग को लेकर शनिवार को यहां रैली निकाली और राजभवन तथा मुख्यमंत्री कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। 

छात्र कुलपति पर कुप्रबंधन तथा अपने कर्तव्य का सही तरीके से निर्वहन करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए उन्हें हटाने की मांग कर रहे हैं। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कुलपति को नहीं हटाने तथा इतने लंबे समय से विश्वविद्यालय की समस्याओं का समाधान नहीं करने को लेकर राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी की। 

पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद छात्रों को वहां से हटाया। इस दौरान छात्रों और पुलिसकर्मियों के बीच काफी देर तक झड़प हुई। मणिपुर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ, मणिपुर विश्वविद्यालय छात्र संघ तथा अन्य छात्र संगठनों ने आरोप लगाया कि कुलपति के पास प्रशासनिक अनुभव नहीं है और उनकी रूचि सिर्फ अनुबंध के कामों तथा विश्वविद्यालय के खर्च पर राज्य के बाहर दौरा करने में है।

मणिपुर विश्वविद्यालय एक केंद्रीय विश्वविद्यालय है और छात्रों का आरोप है कि वर्ष 2016 में प्रो. पांडे के कुलपति बनने के बाद विश्वविद्यालय की सामान्य अकादमिक गतिविधियों में गिरावट आई है क्योंकि वह ज्यादातर समय राज्य से बाहर बिताते हैं और बमुश्किल महीने में 10 दिन ही विश्वविद्यालय परिसर में रहते हैं।