राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) सहित करीब चार केंद्रीय एजेंसियों ने यहां 10 मई को गिरफ्तार किए गए 24 बांग्लादेशी युवाओं से पूछताछ की।

त्रिपुरा पुलिस मोबाइल टास्क फोर्स (एमटीएफ) के पुलिस अधीक्षक अभिजीत चौधरी ने आईएएनएस को बताया, 'गुवाहाटी से दो अलग-अलग एनआईए की टीम और कुछ केंद्रीय खुफिया एजेंसियां बांग्लादेशियों से पूछताछ कर रही हैं, जो अभी गर्वमेंट रेलवे पुलिस की हिरासत में हैं।'

एक अदालत ने 11 मई को घुसपैठियों को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

एमटीएफ कर्मियों ने 10 मई को अगरतला रेलवे स्टेशन पर पहुंचने पर इन बांग्लादेशियों को गिरफ्तार किया था।

अधिकारी ने बांग्लादेशी घुसपैठियों से प्राप्त कोई जानकारी साझा करने से इनकार किया।

एमटीएफ प्रमुख ने कहा, 'अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने के बाद 20-22 साल के ये युवा पश्चिम बंगाल सीमा के जरिए ज्यादातर उत्तर प्रदेश में ठहरते हैं।'

उन्होंने कहा कि खुफिया और एनआईए अधिकारियों ने हिरासत में रखे लोगों से एकत्रित कोई जानकारी उनके साथ साझा नहीं की।

चौधरी ने कहा, 'घुसपैठियों के पास से विभिन्न राज्यों के मदरसा के पहचान पत्र दस्तावेज के साथ मोबाइल फोन व भारतीय मुद्रा बरामद की गई है। उनके पास वैध पासपोर्ट नहीं है।'

प्राथमिक पूछताछ के बाद एमटीएफ ने इन युवाओं को जीआरपी को सौंप दिया।