असम और नागालैंड लंबे समय से विवादित अंतरराज्यीय सीमा से संभावित तनाव को कम करने के लिए अपनी-अपनी पुलिस चौकियों को हटाने पर सहमत हो गए हैं।

नागालैंड के डिप्टी सीएम वाई पैटन ने शुक्रवार को त्जुरंगकोंग क्षेत्र के विभिन्न संगठनों के साथ एक बैठक में कहा, नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो और उनके असम के समकक्ष हिमंत बिस्वा सरमा ने अपने पुलिस बलों को वापस लेने और सीमा पर शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने पर सहमति जताई है। उन्होंने कहा, जब भी असम के समकक्ष ऐसा करेंगे तो नागालैंड पुलिस अपनी चौकी से हट जाएगी।

मालूम हो कि नागालैंड ने 29 जून को नगालैंड के मोकोकचुंग जिले में त्जुरंगकोंग रेंज के तहत विकुतो गांव के पास असम पुलिस द्वारा शिविर स्थापित करने का विरोध किया था। यह क्षेत्र असम के जोरहाट जिले में मरियानी के पास है। गृह विभाग की कमान संभालने वाले पैटन ने दिन में सीमा का हवाई सर्वेक्षण किया। गौरतलब है कि नागालैंड के डिप्टी सीएम का यह बयान असम और मिजोरम के पुलिस बलों के बीच हिंसक झड़प के कुछ दिनों बाद आया है जिसमें छह पुलिसकर्मियों समेत सात की जान चली गई थी। 50 से अधिक लोग घायल हो गए थे।