कोलकाता। कुमार कुशाग्र (नाबाद 112) और विराट सिंह (107) के शानदार शतकों की मदद से झारखंड ने कोलकाता के ईडन गार्डन में चल रहे नागालैंड के खिलाफ रणजी ट्रॉफ़ी प्री-क्वार्टर फ़ाइनल मैच के पहले दिन शनिवार को पांच विकेट पर 402 रन का मजबूत स्कोर बना लिया। इस जोड़ी ने 36 ओवर से भी कम समय में पांचवें विकेट के लिए 175 रन जोड़े। दोनों बल्लेबाजा काफ़ी आक्रामक तरीके से बल्लेबाजी कर रहे थे और लगातार बॉउंड्री तलाशने में कामयाब हो रहे थे। 

विकेटकीपर बल्लेबाज कुशाग्र ने मात्र 105 गेंदों में अपना शतक बनाया और 111 गेंदों में 16 चौकों तथा एक छक्के की मदद से 112 रन बनाकर क्रीज पर डटे हैं। विराट ने इस सीजन अपना दूसरा शतक लगाया। उन्होंने 155 गेंदों में 13 चौकों की मदद से 107 रनों की पारी खेली। इससे पहले विराट ने दिल्ली के खिलाफ भी शतक लगाया था। नागालैंड ने झारखंड के चार विकेट काफ़ी जल्दी निकाल लिए थे लेकिन उसके बाद कुशाग्र और विराट ने काफ़ी बढिय़ा साझेदारी की। 

यह भी पढ़ें- Sheetala Ashtami 2022: शीतला अष्टमी 25 मार्च को, जानें पूजन का शुभ मुहूर्त, शीतला माता की महिमा व व्रत महत्व

दिन का खेल खत्म होने तक कुशाग्र नाबाद थे और अनुकुल रॉय 19 गेंदों में 21 रन बना कर खेल रहे थे। विराट और कुशाग्र के बीच हुए साझेदारी के दौरान उन्हें कई बार जीवनदान मिला। 66वें ओवर में विराट एक हवाई ड्राइव लगाना चाह रहे थे लेकिन वह गेंद को ठीक से मिडिल नहीं कर पाए और गेंद कवर पर खड़े फ़ील्डर से थोड़े सी दूर गिरी। वहां खड़े फील्डर ने अपना हाथ बढ़ाया था लेकिन उनकी उंगलियों को छूकर गेंद जमीन पर गिर गई। इसके ठीक दो ओवर के बाद जब कुशाग्र 44 रन बना कर खेल रहे थे, तो मिडविकेट ने भी उनका कैच टपका दिया। 

यह भी पढ़ें- पंजाब में आप सरकार बनने से पहले बड़ा फैसला, सभी पूर्व मंत्रियों और पूर्व विधायकों की सुरक्षा वापस लेने के आदेश जारी

इससे पहले झारखंड के शीर्ष छह खिलाड़यिों को शुरुआत तो मिली थी लेकिन वह उसे बड़े स्कोर में तब्दील करने में नाकाम रहे। सिफर कुमार सूरज 66 का स्कोर बना सके। कुशाग्र और विराट की तरह सूरज भी क्रीज पर सकारात्मक दिखे। उन्होंने 91 गेंदों की अपनी पारी में 11 चौके और एक सिक्सर लगाया।