नागा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) के अध्यक्ष एवं नागालैंड के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. शुरहोजेली लीजेत्सु ने राज्य में कानून एवं व्यवस्था की बिगड़ती हुई स्थिति को लेकर राज्यपाल आर एन रवि के पत्र का समर्थन किया है।

डॉ. लीजेत्सु ने रविवार देर रात एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि राज्यपाल के पत्र से नागालैंड की जनता और मुख्यमंत्री नेफियू रियो दोेनों में से किसी को कोई हैरानी नहीं हुई क्योंकि पिछले वर्ष 23 अगस्त को भी श्री रवि ने सरकार को पत्र लिखा था।

बता दें कि कांग्रेस ने भी नागालैंड में कानून एवं व्यवस्था की मौजूदा स्थिति के सामान्य होने के राज्य सरकार के दावे की आलोचना करते हुए इसे जनता का अपमान करार दिया है।

नागालैंड प्रदेश कांग्रेस समिति (एनपीसीसी) के अध्यक्ष के थेरी ने रविवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा, 'क्षेत्रीय पार्टी के सत्ता में आने के बाद से ही राज्य सरकार ने कानून एवं व्यवस्था के मुद्दे पर आत्मसमर्पण कर दिया है। राज्य में कई समानांतर स्वयंभू सरकारें चल रही हैं।' 

उन्होंने ने कहा, 'राज्य सरकार की अपेक्षा इन स्वयंभू सरकारों का अधिक बोलबाला है। सोशल मीडिया की ओर देखने से पता चलता है कि लोग राज्य सरकार की आलोचना करने से नहीं डर रहे हैं बल्कि इन स्वयंभू सरकारों के खिलाफ कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं।'