नगालैंड (Nagaland) के 'संयुक्त लोकतांत्रिक गठबंधन' (UDA) ने केंद्र सरकार (central government) और वार्ता कर रहे नगा समूहों के बीच बातचीत बहाली का स्वागत किया है। यहां 'स्टेट बैंक्वेट हॉल' में मंगलवार को हुई यूडीए की पहली बैठक में इस संबंध में एक प्रस्ताव पारित किया गया। पिछले महीने ही यूडीए का गठन किया गया है।

प्रस्ताव में कहा गया, 'बातचीत बहाल होने और दिल्ली जा कर शांति प्रक्रिया बहाल करने का नगा राजनीतिक समूहों के फैसले का सदन स्वागत करता है।' प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री निफियू रियो (Chief Minister Niiphiu Rio), उपमुख्यमंत्री वाई पैटन, एनपीएफ के नेता टी आर जेलियांग, एनडीपीपी के अध्यक्ष चिगवांग कोन्याक, भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष तेमजेन इमना अलोंग और एनपीएफ के कार्यकारी अध्यक्ष हस्का सुमि ने हस्ताक्षर किए।

यूडीए (UDA) ने शांति प्रक्रिया में सक्रिय भूमिका निभाने के हर सम्भव प्रयास करने का संकल्प किया। इस बीच एक वरिष्ठ विधायक ने कहा कि यूडीए के सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात करने का निर्णय किया है, जिसके लिए मुख्यमंत्री रियो (CM Rio) समय लेने का प्रयास करेंगे।