स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आखिरकार नागालैंड कोरोना वायरस मुक्त राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि 25 मई, 2020 को तीन  कोविड ​​रोगियों का पता लगाने के बाद से पूर्वोत्तर राज्य में पहली बार सक्रिय मामले की संख्या शून्य हो गई। नागालैंड में पहले तीन कोरोनावायरस मरीज चेन्नई से लौटे लोगों में से थे।

ये भी पढ़ेंः नागालैंड में शहीद हुआ बागपत का जवान, पैतृक आवास पहुंचा पार्थिव शरीर


अधिकारी ने कहा कि पिछले 24 घंटों में कोई ताजा संक्रमण नहीं हुआ। कुल मिलाकर, 33,244 लोग अब तक इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं। रिकवरी रेट 93.68 फीसदी रहा। अधिकारी ने कहा कि संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या 760 थी। अधिकारी ने कहा कि कुल मिलाकर 1,484 मरीज दूसरे राज्यों में चले गए हैं। नागालैंड ने अब तक संक्रमण के लिए 4,71,479 नमूनों का परीक्षण किया है। राज्य में शनिवार तक कोविड-19 टीकों की 16.16 लाख से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं।

ये भी पढ़ेंः द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नागालैंड में मारे गए अपने सैनिकों के अवशेष ले जाएगा जापान


गौरतलब है कि देश भर में कोरोना संक्रमण के घटते-बढ़ते मामलों के बीच मृतकों की संख्या में 1,399 की अप्रत्याशित वृद्धि हुई है, जिसके साथ ही देश में इस महामारी से मरने वालों की कुल संख्या 523622 हो गयी है। देश में सोमवार को 22,83,224 कोरोना टीके लगाये गये। अभी तक पूरे देश में कोरोना वैक्सीन की 1,87,95,76,423 डोज दी जा चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान देश में संक्रमण के 2,483 नये मामले सामने आए। इसी के साथ देश में दर्ज कुल मामलों की संख्या 43,062,569 हो गयी। इस दौरान देश में सक्रिय मामलों में 886 की कमी हुई है, जिससे इनकी कुल संख्या घटकर 15,636 हो गयी है। इसी अवधि में 1,970 मरीज स्वस्थ हुए हैं, जिसके साथ ही कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या बढक़र 42523311 हो गयी है। देश में सक्रिय मामलों की दर 0.04 प्रतिशत, रिकवरी दर 98.75 फीसदी तथा मृत्यु दर 1.22 प्रतिशत पर है।