राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) ने मंगलवार को बताया कि नगालैंड की दजुको घाटी के जंगल में लगी आग और भड़क रही है। एनडीआरएफ का कहना है कि अब यह आग पड़ोसी राज्य मणिपुर की पहाड़ियों की ओर भी फैल रही है। एनडीआरएफ ने कहा कि उसने नगालैंड के कोहिमा जिले और मणिपुर के सेनापति जिले के प्रभावित इलाकों में सात टीमों को तैनात किया है जोकि जंगल की आग पर काबू पाने में जुटे अग्निशमन विभाग की सहायता कर रही हैं।

गौरतलब है कि पर्यटन स्थल के लिए मशहूर दजुको घाटी के जंगल में 29 दिसंबर को आग लग गई थी। एनडीआरएफ के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा कि जंगल में लगी आग पहले नगालैंड तक ही सीमित थी लेकिन अब यह आग और भड़कने के साथ ही मणिपुर की पहाड़ियों की तरफ फैल रही है।

नगालैंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के विशेष ड्यूटी अधिकारी (ओएसडी) जॉनी रौंगमई ने बताया कि आग बुझाने के लिए शुक्रवार को वायु सेना के हेलीकॉप्टरों का इस्तेमाल किया गया। वन, पुलिस, दमकल और आपात सेवा कर्मियों और साउदर्न अंगमी यूथ आर्गेनाइजेशन के स्वयंसेवियों सहित कोहिमा जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के एहतियाती उपायों के चलते नगालैंड की ओर, आग अपेक्षाकृत काबू में कर लिया गया है।

कोहिमा में जनसंपर्क अधिकारी (रक्षा) लेफ्टिनेंट कर्नल सुमित के शर्मा ने बताया, “राज्य सरकार की जरूरत के अनुसार भारतीय वायु सेना के एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल कोहिमा के निकट दजुको घाटी में आग बुझाने के लिए किया गया। आग बुझाने का काम फिलहाल जारी है।”

उन्होंने कहा, “फायर ब्रिगेड, स्थानीय पुलिस, नागालैंड और मणिपुर राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल की टीमें और कुछ एनजीओ भी पहाड़ियों में इस ‘तेजी से फैल रही’ आग की जांच करने के लिए काम कर रहे हैं। भारतीय वायु सेना के हेलीकॉप्टर भी ऑपरेशन में लगे हुए हैं।”