नागालैंड विधानसभा पेपरलेस होने वाली देश की पहली विधानसभा बन गई है। नेशनल ई-विधान एप्लीकेशन (नेवा) प्रोग्राम को लागू कर नागालैंड राज्य विधानसभा पूरी तरह से पेपरलेस हो जाने के बाद शनिवार को इतिहास रच दिया गया।

यह भी पढ़े : Aaj Ka Panchang : सायं 4.30 बजे से सायं 6 बजे तक राहुकालम्, चांग से जानें आज के शुभ- अशुभ मुहूर्त


केंद्रीय संसदीय मामलों के मंत्री - प्रह्लाद जोशी ने कहा, नेशनल ई-विधान परियोजना को सफलतापूर्वक लागू करने वाली नागालैंड भारत की पहली विधानसभा बन गई है। अब सदस्य सदन की कार्यवाही में भाग लेने के लिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग कर सकते हैं। यह पहल कागज रहित संचालन को प्रोत्साहित करती है और अष्ट लक्ष्मी के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। 

यह भी पढ़े : राशिफल 20 मार्च : आज सूर्य की तरह चमकेगा इन राशियों का भाग्य, काली मां की अराधना करते रहें, पढ़ें सम्पूर्ण राशिफल 


विशेष रूप से, 60 सदस्यों के नागालैंड विधानसभा भवन में प्रत्येक टेबल पर एक टैबलेट या एक ई-बुक संलग्न की गई है।

यह भी पढ़े : Gujarat elections : कांग्रेस के दस विधायक भाजपा के राडार में , राजस्थान के नेता का दावा


NeVA एक यूनिकोड अनुपालक सॉफ्टवेयर है जिसमें विभिन्न दस्तावेजों जैसे प्रश्नों की सूची, व्यवसाय की सूची, रिपोर्ट आदि द्विभाषी रूप से आसानी से प्राप्त करने का प्रावधान है। 

यह एप्लिकेशन 'वन नेशन-वन एप्लिकेशन' के सिद्धांत का नेतृत्व कर रहा है, जिसका उद्देश्य क्लाउड फर्स्ट और मोबाइल फर्स्ट टू सर्विस फर्स्ट मेम्बर्स है।