नागालैंड (Nagaland) में सुरक्षा बलों को पैरा स्पेशल फोर्स के कमांडो द्वारा एक असफल आतंकवाद विरोधी अभियान का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। इसके सोशल मीडिया (social media) पर वीडियो वायरल हो रहे हैं, जहां नागालैंड की राजधानी कोहिमा में स्थानीय लोग सशस्त्र बलों के कर्मियों को ‘go back’ के लिए कह रहे हैं।



बता दें कि नागालैंड (Nagaland massacre) के मोन जिले के ओटिंग गांव के कम से कम 13 कोयला खनिकों को सुरक्षा बलों ने मार गिराया क्योंकि एक उग्रवाद विरोधी अभियान बुरी तरह से गलत हो गया था। पत्रकार द्वारा साझा किए गए ऐसे ही एक वीडियो में दिखाया गया है कि कैसे सशस्त्र बलों के कर्मियों को कोहिमा में स्थानीय लोगों द्वारा ‘go back’ के लिए कहा जा रहा है।

उल्लेखनिय है कि असम राइफल्स (Assam Rifles) की गोलीबारी में एक और नागरिक की मौत हो गई, जब गुस्साई भीड़ मोन शहर में उनके शिविर में घुस गई और उनके शिविर के एक हिस्से में आग लगा दी। नागालैंड गोलीबारी की घटना और संबंधित जवाबी दंगों में आधिकारिक नागरिक मरने वालों की संख्या 14 है।