नागालैंड में एक दुखद घटना में सीमावर्ती गोलचक्कर क्षेत्र में लाइट हाउस परियोजना में पाइलिंग कार्य में लगे एक मजदूर की कल परियोजना के पाइलिंग कार्य में लगे बिजली के करंट की चपेट में आने से मौत हो गयी। करंट लगने के बाद मजदूर शीतल मलिक को उनके साथियों ने आईजीएम अस्पताल ले जाया गया।


यह भी पढ़ें- 'समाज कल्याण समिति' के सहयोग से पुलिस जवाबदेही आयोग ने बेरीमुरा में आयोजित किया जागरूकता कार्यक्रम


ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर ने उन्हें 'मृत लाया' घोषित कर दिया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि बमुटिया थाना क्षेत्र के कालीबाजार निवासी शीतल मलिक (45) लंबे समय से लाइट हाउस परियोजना में काम कर रहा था। कल काम करते समय वह एक ढीले और चार्ज बिजली के तार के संपर्क में आया और इससे बाहर नहीं निकल सका।

यह भी पढ़ें- 2023 चुनाव की तैयारियों जुटी पार्टियां, UDP में 7 विधायक शामिल होने की संभावना
उसकी तलाश में मौके पर मौजूद अन्य मजदूर दौड़े और आईजीएम अस्पताल ले जाने से पहले उसे अलग कर दिया लेकिन अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई थी। दुखद मौत ने पूरे कालीबाजार क्षेत्र में शोक और शोक की छाया कर दी है।