इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ड्रोन रिस्पांस एंड आउटरीच इन नॉर्थ ईस्ट (i-Drone) पायलट प्रोजेक्ट ने अपनी पहली उड़ान भरी, जो भारत में ड्रोन द्वारा अब तक की सबसे लंबी उड़ान है। मोकोकचुंग के बाद त्युएनसांग में इस पहल की शुरुआत की गई।
नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो (CM Neiphiu Rio) ने बताया कि "ICMR और राज्य सरकार ने सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रथाओं के इतिहास में एक नया अध्याय बनाया है। [email protected] ने नागालैंड सरकार के साथ मिलकर सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रथाओं के इतिहास में एक नया अध्याय खोला "।



मोकोकचुंग से तुएनसांग तक, 40 किलोमीटर की दूरी, 28 मिनट में 3525 चिकित्सा आपूर्ति वितरित की गई। लगभग 28 मिनट में, ड्रोन ने मोकोकचुंग (Mokokchung) से त्युएनसांग (Tuensang) की यात्रा की, जिसमें लगभग 3000 यूनिट चिकित्सा आपूर्ति थी। आई-ड्रोन प्रोजेक्ट टीम के अनुसार, इस ऑपरेशन के परिणामस्वरूप 7000 से अधिक चिकित्सा सामग्री नागालैंड भेजी गई थी।