नागालैंड में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के 1,800 से अधिक कर्मचारियों ने अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार के आश्वासन के बाद बुधवार को अपना अनिश्चितकालीन आंदोलन बंद कर दिया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर्मचारी संघ नागालैंड (NEAN) के बैनर तले कर्मचारी रविवार से ही काम पर थे, उन्होंने अपनी सेवाओं को नियमित करने, राज्य स्वास्थ्य कर्मचारियों के अनुरूप समता और सभी बुनियादी लाभों का भुगतान करने की मांग की।


एनईएएन के अध्यक्ष शसिन्लो माघ ने कहा कि मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्री एस। पंगनु फुओम के साथ बैठक हुई और उन्होंने समय मांगते हुए मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया ताकि सरकार के तौर-तरीकों पर काम किया जा सके।

माघ ने कहा कि आश्वासन के बाद, NEAN ने COVID-19 संकट को ध्यान में रखते हुए जनता के हित में 15 दिनों के लिए आंदोलन वापस लेने का फैसला किया। एनएचएम कर्मचारियों में एम्बुलेंस चालक, प्रयोगशाला तकनीशियन, नर्स और डॉक्टर शामिल हैं।

जानकारी के लिए बता दें कि देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। इस वक्त देश में कोरोना वायरस के 3 लाख 50 हजार से अधिक मामले हो गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, देश में कोरोना वायरस के 155227 एक्टिव केस हैं।

कुल मामलों में से अब तक 186934 संक्रमित लोग ठीक हो गए है। वहीं, देश में कोरोना के कारण  11903 लोगों की मौत हो गई है। गौरतलब है कि दुनियाभर के कई बड़े देश कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं। कोरोना वायरस का सबसे पहला मामला चीन के वुहान शहर में पिछले साल दिसंबर में सामने आया था। इसके बाद ये वायरस दुनियाभर के लगभग सभी देशों मे अपने पैर पसार चुका है। विश्वस्तर पर कोरोना वायरस से 72 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं।