कोहिमा। पिछले साल सुरक्षा बलों (Security Forces) के हाथों पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड (Nagaland) में हुईं नागरिकों की हत्या  के बड़े संवेदनशील मामले में अब तक अंतिम रिपोर्ट नहीं आई है। नेफ्यू रियो  सरकार (Neiphiu Rio Government) ने मोन ज़िले में पिछले साल चार और पांच दिसंबर को सुरक्षा बलों के हाथों 14 नागरिकों की हत्या की जांच को एक महीने के अंदर पूरी करने के निर्देश दिए थे। 

इस हत्याकांड की जांच के लिए विशेष जांच दल( SIT) गठित किया था। लेकिन अंतिम रिपोर्ट के लिए गुवाहाटी और हैदराबाद की प्रयोगशालाओं से मिलने वाली फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट (Forensic Report) अभी तक नहीं आई है। फोरेंसिक जांच की रिपोर्ट मिलने के बाद ही इसे एसआईटी अदालत (SIT Court) में सौंपी जाएगी। क्योंकि इससे पहले कोई भी नतीजा अदालत में माना नहीं जाएगा।

नगालैंड के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) संदीप तमगडगे ने बताया कि मौका-मुआयने से मिली चीजें, मिट्टी और ख़ून के नमूने गुवाहाटी और हैदराबाद में केंद्रीय अपराध विज्ञान प्रयोगशालाओं को भेजे गए हैं। उनकी रिपोर्ट का इंतजार है। जैसे ही हमें मिलेगा, हम अपनी अंतिम रिपोर्ट तैयार करना शुरू कर देंगे जो अदालत में पेश की जाएगी।”