केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास, पंचायती राज और खाद्य प्रसंस्करण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा है कि कीवी जैसे विदेशी फल का उत्पादन करने की दिशा में नागालैंड एवं अन्य उत्तर-पूर्वी राज्य अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। मंत्रालय की बुधवार को जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक तोमर ने कहा कि कीवी उत्पादन से नागालैंड के किसानों की आय बढ़ने के साथ ही बागवानी के क्षेत्र में विस्तार हुआ है और राज्य की अर्थ व्यवस्था को भी बढ़ावा मिला है। 

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एवं कृषि मंत्रालय को नागालैंड को 'कीवी स्टेट' का दर्जा मिले इस दिशा में कार्य करना चाहिए। केंद्रीय मंत्री तोमर बुधवार को केंद्रीय बागवानी संस्थान, नागालैंड द्वारा आयोजित कीवी के लिए मूल्य वर्धन श्रृंखला निर्माण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि यह अवसर सभी को प्रसन्न करने वाला है, जब उत्तर-पूर्वी राज्य नागालैंड के किसानों ने कीवी फल के उत्पादन में अग्रणी भूमिका निभाई है। 

तोमर ने कहा कि आत्म निर्भर भारत अभियान के अंतर्गत खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में 10 हज़ार करोड़ रूपये की धनराशी का प्रावधान किया है। अब आवश्यकता इस बात की है कि केंद्र, राज्य व संबंधित संस्थाएं मिलकर इन सारी योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचाने के लिए कार्य करे। इस अवसर पर केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरषोत्तम रूपाला ने कहा कि विदेशी फल हमारे यहां उत्पादित हों और उनका आयात कम हो यह भी आत्मनिर्भर भारत अभियान की ही दिशा में एक कदम है। खाद्य एवं सार्वजानिक वितरण मंत्रालय के सचिव श्री सुधांशु पाण्डेय, अपर सचिव-कृषि डा. अभिलक्ष लिखी एवं आयुक्त-बागवानी बी.एन.एस मूर्ति ने इस अवसर पर कीवी फल उत्पादन एवं प्रसंस्करण के क्षेत्र में हो रहे कार्य की जानकारी दी।